Saturday, 22 October 2016

टीचर से चुदाई

desi stories
मैं राहुल शर्मा. मैं १८ साल का हु. मैं १२थ क्लास में पढाई कर रहा हु और दिखने में काफी स्मार्ट हु और मस्त हु. मेरा लंड ८.५ इंच का है. ये कहानी आज से १ साल पुरानी है, जब मैं १२थ में था और बोर्ड क्लास में होने की वजह से मुझे मैथ्स के ट्यूशन की बहुत जरूरत थी. तो मैंने एक दोस्त ने मुझे एक टीचर के बारे में बताया. जो अपने घर पर ट्यूशन देती थी और मैं अगले दिन, उसके बताये हुए एड्रेस पर पहुच गया. तो मेरा फ्रेंड वहीं था. मैंने उसके साथ गया २न्द फ्लोर पर. क्योंकि उनका ट्यूशन सेण्टर २न्द फ्लोर पर था. सो जैसे ही हम दोनों अन्दर गये. तो मैं अपने बेड पर थी और बाकी सब गर्ल्स सोफे पर थी. मेम ने हमको बोला – अन्दर आओ और बैठो. मेरे बैठने के लिए कोई जगह नहीं बची थी. तो उन्होंने मुझे ऐसे खड़े देख कर कहा – यहाँ आ जाओ. तुम मेरे साथ बेड पर बैठ जाओ. सर्दी के दिन थे. तो मेम ने अपने ऊपर एक कम्बल ले रखा था और हम को पढ़ा रही थी. मेम २५ साल की होगी. उनका रंग गोरा, मस्त भरी जवानी है. उनकी फिगर तो लाजवाब थी ३८ – ३० – ४०. मेम के बूब्स बहुत ही मस्त है और बहुत मोटे – मोटे भी है. उनके भरे – भरे चुतड और गांड तो बहुत ही मस्त है.. बहुत मोटे चुतड है उनके.

तो दोस्तों, जब मैं उनके पास बैठ कर पड़ रहा था. तो वो सबको अलग से समझाती और मुझे सबसे अलग से समझाती. उनको देख कर मन तो कर रहा था, कि बस पकड़ कर चोद डालू. मेरा लंड भी अब थोड़ा खड़ा होते – होते पूरा खड़ा हो गया था. पेंट में से निकलने को तैयार था. मैंने अपनी बुक से उसे ढक लिया और किसी को पता भी नहीं चलने दिया. पर मैडम ने मुझे अपने लंड को दबाते हुए देख लिया था. मेम मुझे देख कर थोड़ा सा मुस्कुरायी और फिर मैं उनको देख कर, मुस्कुराते हुए देख कर थोड़ा नर्वेस हो गया. फिर लगभग ३ वीक तक ये ही सब चलता रहा. फिर एक दिन मुझे घर पर कुछ काम होने की वजह से ट्यूशन नहीं जा पाया. फिर अगले दिन, जब मैं ट्यूशन गया, तो बाहर किसी की बाइक या स्कूटी नहीं थी. मैंने सोचा, कि सब बस से आये होंगे. तभी मैं ऊपर गया और जैसे ही गेट के सामने खड़ा था. तो मेम के माँ – डैड बाहर आये और उन्हें बाय बोला. जेसे ही उन्होंने मुझे देखा, तो वो शॉक हो गयी और बोली – तुम आज यहाँ कैसे? मैंने तो सबको छुट्टी दे दी थी.

मैं – मेम, मैं कल नहीं आ पाया था. सो मुझे छुट्टी के बारे में नहीं पता था.
मेम – अच्छा.
मेम – ओके मेम. अच्छा मैं चलता हु. अब मैं कल आ जाऊंगा.
मेम – अब आज आ ही गया है. तो चल कुछ रिविजन ही कर ले.
मैं – ओके.
मेन – मैं भी अकेली हु. कुछ टाइम ही पास हो जाएगा.
मैं – मेम, आपके माँ और डैड कहाँ गये है?

मेम – वो गाँव में किसी की डेथ हो गयी है. वहां गए हुए है. २ वीक के बाद आयेंगे.
मैं – अच्छा, ओके.
मेम – अच्छा चल, कुछ कर ले. २ घंटे का टाइम है तेरे पास.
तो मैं जाकर सोफे पर बैठने लगा तभी.
मेम – अरे… वहां क्यों बैठ रहा है. यहाँ आजा बेड पर.. कम्बल में बैठ जा.
मैं – अरे नहीं.. नहीं मेम.
मेम – आजा ना..
मैं – ओके मेम.

मैं जाकर मेम के पास बैठ गया और कम्बल के अन्दर पैर डाल लिए. मेम ने मुझे सम दिए करने के लिए. मैंने एक ही बार में सब सोल्व कर दिए.

मेम – अरे वाह, तू तो काफी इंटेलीजेंट है और मेरे जांघ पर अपना हाथ रख दिया. तभी मेरा लंड एक दम से खड़ा हो गया. फिर मेम ने मुझे देखा और पूछा, क्या तेरी कोई गर्लफ्रेंड है. मैंने कहा – नहीं मेम. आज तक तो कोई नहीं बनायीं. तो मेम ने कहा – इतना अच्छा दीखता है, स्मार्ट भी है और फिजिकली भी स्टोरंग दीखता है. फिर क्यों नहीं बनायीं.
मैं – मुझे गर्ल से बातें करना नहीं आती है.
मेम – बात करने में कौन सी बड़ी बात है. जैसे सिंपल बात करते है. वैसे ही बात करते है.
मैं – बट मेम, बात करने के अलावा तो गर्लफ्रेंड – बॉयफ्रेंड बहुत कुछ करते है. वो कैसे करते है. वो भी मुझे नहीं आता है इसलिए.
मेम – बस, इतनी सी बात. ये तो सब अपने आप ही सिख जाते है बुद्दू.
मैं – बट मेम, मुझे नहीं आता है.
मेम – तो क्या हुआ? मैं सिखा देती हु तुझे.
मैं – आप मुझे कैसे सिखाओ गे?
मेम – प्रैक्टिकल करके और कैसे?
मैं – ओके मेम.

मेम ने फिर मुझे अपने मोबाइल पर एक ब्लू फिल्म लगा कर दी और चेंज करने चली गयी. मैं देखता रहा और फिर थोड़ी देर बाद मेम आ गयी. वो एक नाइटी पहने हुई थी पिंक कलर की. सिर्फ उनकी जांघो तक थी. मैं उनको देखता ही रह गया. फिर मैं थोड़ा शांत बैठ गया और मोबाइल साइड में रख दिया. मेम आकर वापस कम्बल में बैठ गयी और मेरे पैरो से अपने पैरो को टच करने लगी. तो मैंने भी हाथ कम्बल में डाल दिया और उनकी जांघो पर हाथ को फेरने लगा. मेम मुझे बहुत ही सेक्सी स्माइल देने लगी. मैं उनको देख कर आउट ऑफ़ कण्ट्रोल हो गया और उनको लेकर बेड पर लेट गया. फिर मैं उनकी बॉडी के हर पार्ट को चूमने लगा और समुच किया. पुरे १५ मिनट तक उनके मुह को समुच किया और फिर मैं उनके बूब्स को दबाने लगा और वो मेरे सर को पकड़ कर अपने बूब्स पर दबाने लगी और सिस्कारिया भरने लगी श्श्श श्श्श श्श्श अहहह्ह अहहहः अहहाह ऊहूहोहोहोहो…

फिर मैंने उनकी नाइटी उतार दी और अब वो बिलकुल नंगी थी मेरे सामने. कसम से यारो.. एकदम मस्त लग रही थी. फिर वो उठी और मेरे सारे कपड़े उतार दिए और अब हम दोनों पुरे के पुरे नंगे थे. हम एक दुसरे को चूम रहे थे और फिर मैंने एकदम से अपना लंड उनकी चूत पर रख दिया और धक्का लगा दिया. मेरा लंड अन्दर नहीं गया. फिर मैं बैठा और मेम की टांगो को अपने कंधो पर रख लिया और फिर चूत पर अपने लंड को रख कर थोड़ा सा अन्दर करके धक्का लगाया. पूरा ८.५ इंच का लंड मेम की चूत में घुस गया और मेम चिल्ला उठी अहहाह अहहाह अहहाह अहहाह स्स्स्स श्श्श्स श्श्श अहहाह अहहाह आःह्ह्ह अहः हाहा अहः… मैंने मेम को जोर से पकड़ लिया और उनको जोर से किस करने लगा. थोड़ी देर ऐसे ही पड़े रहने के बाद उनके ऊपर, फिर जब मेम को थोड़ा आराम मिला, तो तब मैंने धीरे – धीरे धक्के लगाने चालू कर दिए और झटके मारता रहा. मेम मोअनिंग करने लगी थी अहः आहाह्हा एस एस एस हाहाह हाहाह ऊहुहुह हाहाहा एस एस… ऊओह्हो और जोर से जोर से चोदो… अहः अहः आहाह.

और फिर मैंने मेम को डोगी स्टाइल में बैठाया और जोर – जोर से झटके मारने लगा. मेम के चुतड को भी दबा रहा था मैं. उनके चुतड पर थप्पड़ भी मार रहा था. फिर मेम बोली – मेरा निकलने वाला है. मैंने कहा – मेम, मेरा भी. फिर हम दोनों साथ में पहली वाली पोजीशन में आ गए और मैंने जोर – जोर से धक्के लगाने शुरू कर दिए. फिर मेम झड़ गयी और ४ – ५ धक्को के बाद, मैं भी झड गया और सारा पानी उनकी चूत में डाल दिया. फिर मैं ऐसे ही उनके ऊपर पड़ा रहा और हम १ घंटे तक ऐसे ही लेटे रहे और एक दुसरे को चुमते रहे. फिर हम दोनों एक साथ नहाये और फिर कपड़े पहने और मैं अपने घर चले गया. अब हम चुदाई करते है ट्यूशन के बाद. जब मेम की माँ जॉब पर चली जाती है और डैड भी अपनी जॉब पर चले जाते है.. तब हम रोजाना घंटो तक चुदाई करते है

teacher ke sath chudai, teacher ke sath sex kia, full desi sexy kahani, desi sex stories Indian, Yum stories you should read today, FSI Blog desi stories, Debonair stories, teacher ko chodne ka tarika, student ko chodne ka tariqa

Rate This Story