Wednesday, 12 October 2016

कजिन की चुदाई शादी पर

हेलो फ्रेंड, क्या हाल है. आज मैं आपके लिए अपने जीवन की एक मजेदार चुदाई घटना लेकर आया हु. आज से पहले ये सिर्फ हम दोनों के बीच में थी और इस चुदाई कहानी को पढ़ने के बाद, आप सब को भी मालूम हो जायगी. मैंने अपनी कजिन को उसकी शादी से पहले चोदा.

मेरी कजिन का नाम नीलम है और मैं आपको नीलम के बारे में बताऊ, वो दिखने में तो ठीक ही ठाक है और उसका फिगर भी नार्मल ही है. उसका कद भी ज्यादा लम्बा नहीं है. कुलमिलाकर चोदने लायक माल है. उसकी शादी तय हो गयी थी और डेट भी फिक्स हो चुकी थी. मामा जी ने मुझे हफ्ते पहले बुला लिया था, काम हाथ बटवाने के लिए. मैं एक हफ्ते पहले ही वहां चले गया, शादी कि तैयारी के लिए. वहां पहुच कर, मुझे देख कर नीलम बहुत खुश हुई और मुझे हग किया और फिर मैं तैयारी में लग गया. मेहमान कोई खास नहीं आये थे. क्योंकि अभी शादी में काफी टाइम पड़ा था. उस दिन हमने काफी हद तक काम निपटा लिया था. काम ख़तम करके हम सब सोने कि तैयारी करने लगे. सब के सो जाने के बाद, नीलम का फ़ोन आया और उसने मुझे अपने कमरे में बुलाया.

जब मैं उसके कमरे में पंहुचा, तो डोर सिर्फ लगाया हुआ था. लॉक नहीं था. मैं कमरे में गया और वो बेड पर नंगी लेटी हुई थी. मैंने बेड के पास गया और मुझे देख कर उसने पूछा – कैसे हो? मैंने कहा – क्या है, ये सब? फिर मैंने उससे पूछा – क्यों बुलाया? तो वो हस पड़ी और कहा – एक हफ्ते बाद, उसकी शादी है. उसे सुहागरात की प्रेक्टिस करनी है. मैंने कहा – साली, पता नहीं. अब तक कितनो के साथ प्रेक्टिस कर चुकी है. वो बोली – साले, आ भी जा ना. क्यों तड़पा रहा है. मैंने अपने कपड़े उतारे और उसके बेड पर चला गया. मैंने उसे एक लम्बा सा किस किया. फिर मैं उसके बूब्स चूसने लगा वो नशे में आने लगा. कहने लगी – चोद दे अब.. मैंने उसकी फुद्दी को सक किया और उसे अच्छी तरह से चूसने लगा. फिर अपना लंड उसके मुह में डाल दिया और वो मेरा लंड चूसने लगी बहुत अच्छे तरीके से. चूस रही थी साली लंड को. कभी नीचे की गोलिया चूसती, लंड की टोपी और पूरा मुह में लेकर.. मज़ा आ गया था. फिर मैंने उसे घोड़ी बनाया और लंड उसकी फुद्दी के छेद पर रख कर धक्का मार दिया. सीधा लंड उसकी फुद्दी में चला गया. उसके मुह से आह्ह्हह्ह की आवाज़ निकली और मैंने कहा – साली, ड्रामा मत कर.. इतनी बार तो चुद चुकी है.

अभी भी पेन हो रहा है.. वो बोली. ३ महीने बाद चुद रही हु. मेरा लंड भी कभी बड़ा है. मेरा लंड उसकी फुद्दी में था और मैं उसको जोर से चोद रहा था. ५ मिनट के बाद, मैंने लंड निकाला और उसकी गांड में डाल दिया. उसकी गांड मारने लगा. जब तक किसी गर्ल की गांड ना मारो, सेक्स करने का मज़ा नहीं आता है. मैंने उसकी जमकर गांड मारी और पानी उसकी गांड में ही छोड दिया. फिर लंड बाहर निकाला और वहीं पर लेट गया. फिर मैं उससे बातें करने लगा और थोड़ी देर बाद, फिर उसने शादी तक रोज रात को मुझसे चुदवाया. जब भी मूझे मौका मिलता, तो मैं उसको साइड में ले जाकर चूमाचाटी भी कर लेता. फिर शादी वाले दिन, जहाँ वो तैयार हो रही थी. घर में कोई नहीं था. सब लोग पैलेस गये हुए थे. ब्यूटी पार्लर वाली घर आई हुई थी और उसकी फ्रेंड थी साथ में. मैंने मामा जी से कहा – मैं उसे लेकर आता हु और घर आ गया. वो तीनो ही थी घर में. मैंने मामा जी को फ़ोन किया, कि अभी थोड़ा टाइम लगेगा तैयार होने में. वो बोले ठीक है. फिर मैं उनके रूम में गया, वहां पर वो तैयार थी और बैठी थी.

मैंने उसे खड़ा किया और वहीं पर साइड में बुलाया और उसके कान में कहा – उसे चोदना है अभी. वो मना करने लगी. मैंने कहा – प्लीज यार. मान जा. नहीं तो तेरी चुदाई की तस्वीर तेरे पति को भेज दूंगा. वो मेरी तरफ गुस्से से देखी और मान गयी. फिर मुझसे कहा – इनका क्या करे? मैंने कहा – तेरी फ्रेंड को तो है सारा. ब्यूटी पार्लर वाली को एतराज़ नहीं होगा. मैंने उनको कहा, कि वो तेरे लहंगे को पकड़ कर खड़े हो जाए, ताकि तेरे कपड़े ख़राब ना हो. उसने बात की, उन्दोनो से और मना लिया. मैंने अपनी पेंट उतारी और ब्यूटी पार्लर वाली और उसके फ्रेंड ने उसका लहंगा अच्छी तरह से पकड़ा और उसे ऊपर किया. वो बहुत ही हैवी था, मैंने अपना लंड उसकी फ्रेंड के मुह में डाला, वो मना करने लगी. पर नीलम के कहने पर उसे सिर्फ चूसा और फिर मैंने उसे टेबल के ऊपर थोड़ा झुका दिया और पार्लर वाली ने और उसकी फ्रेंड ने लहंगा अच्छी तरह से उठा दिया, ताकि ख़राब ना हो. फिर मैंने उसकी पेंटी उतारी और लंड को उसकी फुद्दी में रख कर पीछे से झटका मारा. मेरा लंड उसकी फुद्दी से अन्दर चले गया.

मैं झटके मारने लगा और फिर लंड उसकी गांड में डाला. मैं उसकी गांड को आधे घंटे से चोद रहा था. फिर जब मैं आने वाला था, तो मैंने अपने लंड को उसकी फुद्दी में डाल दिया और अपना पानी उसकी फुद्दी में छोड़ दिया. उसने साफ़ नहीं किया और पेंटी पहन ली और फिर पार्लर वाली बोली – अच्छी चुदाई कर लेटे हो. वो भी ज्यादा उम्र की नहीं थी सिर्फ २२ साल की थी. अन्मेरिड थी अभी. उसने कहा – मेरी फुद्दी ने भी पानी छोड़ दिया है. मेरी बहन अब सीधी हो गयी और उसकी फुद्दी से मेरा पानी बाहर आ रहा था. उसकी पेंटी गीली हो गयी थी. वो बोली – चेंज करनी पड़ेगी. मैंने कहा – नहीं, यही मजा है, तेरी शादी में.. तेरी फुद्दी में से मेरा पानी निकलेगा. सब हसने लगे. फिर मैं उसको लेकर शादी में आ गया. पार्लर वाली ने मेरा फ़ोन नंबर लिया. मेरी बहन कि शादी हो गयी और वो विदा हो गयी, अपनी फुद्दी में मेरा पानी लेकर. फिर २ दिन बाद, मैं भी घर आ गया.

दोस्तों, कैसी लगी मेरी चुदाई कहानी ….. आप कमेन्ट कर के अपनी बात जरुर बताना मुझे.

shadi pe chudai, cousin ki chudai, cousin ke sath sex kiya, cajan ke sath chudai, kajan ki chudai, hindi font writing sex kahani, antarvasna sex

Rate This Story