Monday, 29 August 2016

पैसों के लिए चुदवाया

मेरा नाम अक्षय (बदला हुआ) है, मैं कुल्लू, हिमाचल प्रदेश का रहने वाला हूँ। मेरी उम्र 19 साल है। मुझे पहले से ही मेरे दोस्त बोलते थे कि तेरा लंड बहुत ही बड़ा है और सच में मेरा लंड मेरे दोस्तों की अपेक्षा में बहुत बड़ा भी था।

मुझे लड़कियों में बहुत दिलचस्पी थी, मेरा मन उनके साथ सेक्स करने का करता था परन्तु मुझे कोई लड़की मिलती ही नहीं थी। वैसे मेरी बहुत सी गर्लफ़्रेंन्ड्स भी थी परन्तु मैं उनके साथ कुछ ऐसा नहीं कर सका। मैंने यह बात अपने मित्रों को भी बताई।

तो कुछ दिनों पहले मेरे एक मित्र ने मुझे एक लड़की की बात बताई, वह 20 वर्ष की थी, उस लड़की को पैसे की बहुत जरुरत थी और उस लड़की ने आज तक किसी के साथ भी सेक्स नहीं किया था, वह लड़की सेक्स करने को भी तैयार थी, तो मैंने उसकी सहायता करने का फैसला किया।

तो मैंने और मेरे दोस्तों ने उसे चोदने की योजना बनाई, वह लड़की इतनी सुंदर तो नहीं थी मगर उसका बदन कमाल का था।

मेरे दोस्तों ने उसे कॉल की और उसे कुल्लू में मिलने को कहा। हम तीन दोस्त थे, हमने अपने एक दोस्त का कमरा एक दिन के लिए माँगा था, हम उसे वहाँ ले गए।

वहाँ हमने उससे थोड़ी देर बात की और उसने हमसे अनुरोध किया कि यह बात कहीं नहीं पता लगनी चाहिये।

हम भी यही चाहते थे कि हमारे बारे में भी किसी को पता न चले और हम उसकी चुदाई भी कर लें।

हम तीनों दोस्तों ने यह सोचा कि हम सब इसे अकेले बारी-बारी से चोदेंगे, पैसों का इंतजाम मैंने किया था तो सबसे पहले मैंने उसके साथ सेक्स करने को कहा।

मेरे दोस्तों ने भी कोई आपत्ति नहीं जताई। मेरे दोनों दोस्त बाहर ही रुके और मैं उसे कमरे में ले गया और उसे उसके कपड़े खोलने को कहा।

वह थोड़ी सी डरी हुई थी क्यूंकि उसने आज तक किसी का लंड नहीं लिया था, तो मैंने कहा- डरो मत, हम कोई जबरदस्ती नहीं करेंगे। उसने अपने कपड़े उतारने शुरू कर दिए। मैं भी बहुत उत्तेजित हो रहा था और मेरा लंड भी उसकी चूत देखने के लिए बेक़रार था।

जैसे ही उसने अपनी कमीज निकाली, उसके चूचे मेरे सामने आ गए, उसने काले रंग की ब्रा पहनी थी, उसमें क्या क़यामत लग रही थी वो !

मैंने उसके चूचों को बाहर से ही दबाया तो मेरा लंड रह नहीं पाया और मैंने अपनी पैंट खोल दी और मैंने उसे उसका पजामा खोलने को कहा।

उसने थोड़ा शरमाते हुआ अपनी सलवार खोल दी और उसकी जालीदार पैंटी से उसकी चूत बिल्कुल साफ़ दिख रही थी। उसने अपनी चूत के बालों को शेव किया हुआ था।

मैंने उसे मेरा अंडरवीयर उतारने को कहा तो उसने जैसे ही मेरा अंडरवीयर खोला, वह मेरा लंड देख कर हैरान हो गई, क्यूंकि शायद उसने सोचा नहीं था कि 18 साल के लड़के का लंड भी इतना बड़ा हो सकता है।

मुझे उस समय ऐसा लग रहा था कि जैसे मैं स्वर्ग में हूँ। मुझे विश्वास नहीं हो रहा था कि मैं आज उस लड़की की चुदाई करने वाला हूँ।

मैंने उसकी ब्रा निकाल दी और उसके स्तनों को पागलों की तरह चूसने लगा। वो सिसकारियाँ भरने लगी- आ आ मह मह !

मुझे उसकी सिसकारियाँ सुन कर और भी जोश आने लगा और मैं उसके होठों को चूमने लगा।

मैंने जैसे ही अपनी एक उंगली उसकी चूत में डाली, तो वह चीख उठी।

मैंने उस ओर कोई ध्यान नहीं दिया और किस करते हुए उसके बूब्स दबाता रहा। मैंने उसे बिस्तर पर लेटाया और उसके ऊपर आ गया।

मैं अपना लण्ड उसके मुँह के पास ले गया क्योंकि मैंने सुन रखा था कि लड़कियों से लण्ड चुसवाने में खूब मज़ा आता है।

और मैंने उसे लंड को चूसने को कहा पर उसने लंड को चूसने से मना किया, मेरे थोड़ जोर देने पर उसने मेरा लंड थोड़ा सा अपने मुँह में डाला।

मैं तो जैसे स्वर्ग में ही पहुँच गया था। मैंने थोड़ा सा झटका लगाया और पूरा लंड उसके मुंह में डाल दिया। फिर हम 69 की अवस्था में आ गए, मैं पागलों की तरह उसकी चूत चाटने लगा।

अब उसे भी मजा आने लग गया था और वह भी आगे पीछे करके मेरा लंड चूसे जा रही थी। वो एक बार झड़ चुकी थी पर मैंने तो कसम ले रखी थी कि उसकी चूत मारने के बाद ही अपना पानी निकालूँगा।

फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रखा और अन्दर डालने की कोशिश की पर उसकी चूत कुँवारी थी तो मेरा लंड आसानी से जा नहीं रहा था।

मैंने वहीं पड़ी क्रीम उठाई और अपने लंड में और उसकी चूत में लगा दी तो थोड़ा सा झटका देने के बाद मेरा लंड उसकी चूत के अंदर चला गया।

वह जोर से चीखी तो थोड़ी देर मैंने अपना लंड उसकी चूत के अंदर ही रखा फिर मैंने धीरे से बाहर निकाला।

उसने मुझे कहा- तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है, प्लीज़ थोड़ा धीरे डालो।

तो मैंने फिर से उसकी चूत में अपने लंड डाला और वो फिर से थोड़ा चीखी। फिर आराम आराम से मैंने अपना लंड उसकी चूत में आगे पीछे किया और तब उसे भी मजा आने लगा और अब वो भी अपनी गांड उठा उठा कर चूत मरवा रही थी।

मुझे चुदाई करने में बहुत मज़ा आ रहा था, मैं उसकी चूत मारते हुए उसके बूब्स को जोर-2 से दबा रहा था। पूरा कमरा उसकी सिसकारियों से गूँज रहा था।

मेरा अब निकलने वाला था तो मैंने उसे बताया तो उसने मुझे बाहर गिराने को कहा।

मैंने अपना लंड उसके पेट पर रख दिया और सारा पानी उसके पेट पर गिरा दिया।

चुदाई के समय वो दो बार झड़ चुकी थी, उसे मेरे साथ सेक्स करके बहुत मजा आया पर उसे अभी दो और लंड अपनी चूत में लेने थे। तो मैंने अपने कपड़े पहने और बाहर आया।

उसके बाद मेरे दो दोस्तों ने भी उसकी ठीक चुदाई की और अब वो भी मजे से मरवा रही थी। जाते समय मैंने एक बार फिर से उसकी चुदाई की।

चुदाई करते-2 हमें शाम के 6 बज गए। मैंने उसे पैसे दिए और उसे बाहर तक छोड़ने गए और मैंने उसे फिर से सेक्स करने के लिए मना लिया।

वह मेरे लंड की दीवानी हो गई थी, उसने कहा कि वो तो मुझे बिने पैसे के भी सेक्स करने दे सकती है क्यूंकि उसे चुदाई करने में बहुत मजा आया मेरे साथ, परन्तु उसे पैसे की भी जरुरत थी।

इस तरह मैंने अपना पहला सेक्स एक कुंवारी लड़की से किया

Hindi Kahani, Hindi Sex, hindi sex kahani, hindi sex kahaniya, Hindi Sex Stories, Hindi Sex Story, Hindi Sexy Kahaniya, hindi sexy story, kamukata.com, Kamukta, kamukta.com, meri chudai, risto me chudai, Sex Jodi, Sex Kahani, sex kahaniya, sex story, sex story hindi, Sex Story in Hindi, sexy hindi story, sexy kahani, sexy kahaniya, sexy kahaniya betio ko choda, sexy stories, sexy story, sexy story in hindi, www.kamukta.com, xxx hindi, xxx kahani, xxx story, xxxhindi, अदला बदली, कॉलेज सेक्स, चुदाई की कहानियाँ, चुदास, देवर-भाभी, पड़ोसी, पड़ोसीchudai, भाई बहन चुदाई, रिश्तों में चुदाई, सामूहिक चुदाई ग्रुप सेक्स, chudai for money, paiso keliye chudai

Rate This Story