Saturday, 19 December 2015

प्रीती की चुदाई दिल्ली में

हेलो दोस्तों मैं दिल्ली में रहता हूं. मेरी हाइट 5 फुट 9 इंच है और मैं हमेशा जिम में जाकर एक्सरसाइज करता हूं इसकी वजह से मेरी बॉडी बहुत अच्छी है. मैं जब से 18 साल की उमर का था तब से मैं जिम जाकर एक्सरसाइज करता हूं. इस कहानी की हीरोइन का नाम है किरण. यह कहानी उस वक़्त की है जब मैं 18 साल का था.

मेरी मां की फ्रेंड का एक पार्लर था. उनका पार्लर हमारे घर के पास में ही था वह हर दिन हमारे घर पर आती थी फ्री टाइम में मम्मी से बातें करने के लिए.
और कभी कभी मुझे भी पार्लर में बुला लेती थी क्योंकि कुछ लेडिज की डिमांड होती थी बॉयज से फेसियल, मेनिक्योर, पेडिक्योर करवाना है. तो इससे मेरी पॉकेट मनी भी बन जाती थी और मुझे मजा भी आता था.

हमेशा की तरह एक दिन उनकी कॉल आई थी उनकी एक रेगुलर क्लाएंट की रिक्वायरमेंट है तो मैं चला गया वहां पर.

जैसे ही मैं अंदर गया मेरी हलकी सी नजर कोच पर पड़ी वहां एक लड़की बैठकर चाय पी रही थी मैंने उसे इग्नोर किया और आंटी को आवाज दी.

संगीता.. संगीता…

फिर आंटी बाहर आई और उन्होंने बोला 5 मिनट बैठ फिर जा वह आ रही है.

बाद में मैं कोच की तरफ बढ़ा जहां वह लड़की बैठी थी. उसे देखने लगा उसने जींस पहन रखी थी और नेवी ब्लू टॉप पहन रखा था. बहुत मस्त चेहरा था उसके बाल कंगना राणावत जेसे थे. वह एक एवरेज दिखने वाली लड़की थी. मैं उसके पास बैठ गया और उसके साथ बातें करने लगा.

मैंने कहा तुम नई हो क्या यहां पर?|

उसने कहा तुम भी यहां जॉब करते हो?|

मैंने कहा नहीं यह मेरी मां की फ्रेंड का पार्लर है वैसे कह सकती हो मैं यहां जॉब करता हूं.

उसने कहा अच्छा

और तभी मुझे आंटी ने बुला लिया

और फिर मैंने अपना काम खत्म किया और वापिस घर पर आ गया.

उस रात में उसके बारे में सोचने लगा मुझे पता नहीं था लेकिन मेरे दिमाग में सिर्फ वही आ रही थी.

दुसरे दिन वह आंटी के साथ घर आई तब मुझे उसका नाम पता चला किरण.

और यह भी पता चला उसका बॉयफ्रेंड है तो यह सुनकर मुझे बुरा लगा लेकिन मैं ठीक था.

ऐसे ही 2 हफ्ते निकल गए और मेरी मां और डैडी आगरा चले गए उनका कोई रिलेटिव एक्सपायर हो गया था.

मैं घर पर अकेला बोर हो रहा था तो लैपटॉप चालू करके ऑनलाइन मूवीस देखने लगा तभी घर की बेल भेजी मैंने जब गेट ओपन किया तो किरण खड़ी थी.

उसने कहा आंटी ने पेडीक्योर तुमसे सिखने के लिए भेजा है क्योंकि वह बहुत बिजी है मैंने कहा ठीक है और उसे रुम में बूलाया.

मैंने उसे कोच पर बैठाया फिर उसने मुझे मेरी मां के बारे में पूछा तो मैंने उससे कहा कि वह काम से बाहर गई हे और मैंने उसे गिलास में जूस दीया और उसके साथ बातें करने लगा.

बातों ही बातों में मैंने उसे बोला मूवी देखेगी?

तो उसने कहा ठीक है और हम लैपटॉप में मूवी देखने लगे.

उस मूवी का नाम था फ्रेंड्स विथ बेनिफिट

मूवी में जैसे ही सेक्सी सिन आया वह मुझे देखने लगी उसे और में उसे. फिर हम फिर से मूवी देखने लगे जब एक हॉट सीन आया तो वह मुझे देखने लगी और मैं उसे और अचानक से हमने किसिंग शुरू कर दि.

दोनों एक दूसरे को बहुत जोर से किसिंग कर रहे थे. मेरी जीभ उसके मुंह में जा रही थी और उसकी जीभ मेरे मुंह में आ रही थी. बाद में मैंने लैपटॉप को अपने लेप से उठा कर आगे टेबल पर रखा. तब भी मेरी किसिंग शुरू थी.

और मैं अपने एक हाथ से उसके बूब्स को दबाने लगा. उसके टॉप के ऊपर से. 10 मिनट की लॉन्ग किस के पास मैंने उसे गोद में उठाया और अपने बेड पर ले आया और उसे बिठा दिया और खुद नीचे खड़ा होकर उसे फिर से किस करने लगा.

वह भी मजे से रिस्पॉन्स कर रही थी फिर मेने लिप किस ब्रेक कर के मैंने उसका टॉप पकड़ा और उतारने लगा. उसने हाथ ऊपर किया ताकि मैं आसानी से टॉप उतार सकूं.

फिर मैं उसके बोबे को दबाने लगा और ब्रा को ऊपर कर दिया.

और वह मेरा सर पकड़कर दबाने लगी और मोन करने लगी आह ओह्ह अहह ओह्ह हहह ओह्ह्ह और जोर से करो बेबी अहहो हह आम्म्म.

फिर मैंने उसकी ब्रा उतार दी और उसके निपल को नोचने और काटने लगा.

उसे दर्द हुआ लेकिन वह कुछ नहीं बोल रही थी बस मेरे बालों को पकड़ कर कभी सहला रही थी तो कभी नोच रही थी. और अपने बोबे पर मेरा सर दबा रही थी.

उसके बाद में रुक गया क्योंकि मुझे टाइम वेस्ट नहीं करना था और उसे चोदना चाहता था.

जब मैं उसकी जींस उतारने के लिए उसकी बेल्ट और बटन खोल रहा था तभी उसने मुझे रोका और मना करने लगी.

मैंने पूछा क्या हुआ?

वह बोली मैंने पहले नहीं किया और शादी से पहले नहीं करना चाहती हु, ऊपर ऊपर से कर लो.

मैंने उसकी बात को अनसुना कर दिया और उसकी जींस खींचने लगा थोड़ी सी नीचे आई और उसके साथ उसकी चड्डी भी मेरे पास आ गई. उसने मुझे देखा और बोली पागल हो गए हो क्या? प्लीज मेरे साथ मत करो. जो करना है जितनी देर तक करना है ऊपर ऊपर से कर लो प्लीज.

यह सुन कर में रुक गया और सोचा यार इसकी बात मान लेता हूं जबरजस्ती सही नहीं हे.

उसने मुझे रुका देखकर मुझे दूर हटाने की कोशिश की.

और ऐसा करने से उसकी जींस और पैंटी नीचे उतर के घुटनों तक आ गई.

और उसकी चूत मुझे साफ़ दिखने लगी उसकी चूत देखकर मेरा कंट्रोल टूट गया और मैंने सोच लिया आज साली को चोद के ही रहूंगा. उसकी चूत पर छोटे छोटे बाल थे जिसे देखकर मैं समझ गया उसने ५-६ दिन पहले शेव की होगी.

बाद में मैंने उसकी जींस और पैंटी दोनों उतार दी और उसकी चूत में अपनी एक उंगली डाल कर फ़िंगरिंग करने लगा.

वह फिर से बोली प्लीज मुझे छोड़ दो मुझे यह नहीं करना है. फिर मैंने उसे प्यार से बोला इतना कुछ हो चुका है अब रुक के फायदा नहीं है कुछ.

उसने बोला किसी को पता चल गया तो? मैंने बोला नहीं चलेगा और उसके लिप्स पर किस किया और फिर फिंगरिंग चालू रखी.

अब सारा मामला सेट हो गया था वह भी मान गई थी और अब मैं पूरे मजे के साथ चुदाई कर सकता हूं

मेने उसकी चूत पर किस किया उसकी चूत को चाटने लगा वह अच्छे से मोन करने लगी.

फिर मैंने एक उंगली उसकी चूत में डाल दी तो मुझे पता चला की यह वर्जिन है और मेरा लंड तो बहोत बड़ा और लम्बा था और 3 इंच मोटा था तो इसे बहुत दर्द होगा.

फिर मैंने दो उंगली डाल दी. 5 मिनट में उसका पानी निकल गया जो मैं पी गया.

फिर मैंने उसे बोला मेरा चूस

उसने बिना कोई विरोध किया मेरा शोर्ट और और चड्डी नीचे किया और लंड देख कर बोलने लगी बहुत बड़ा है. मैंने कहां चूस ना टाइम वेस्ट मत कर.

फिर उसने मेरे लंड की स्किन नीचे की और मेरे लंड को किस किया और मुंह में लिया जितना जा सका, बाद में थूक लगा कर उसने मेरा लंड चूसना शुरु कर दिया. और मैंने अपनी आंखें बंद करके ब्लोजॉब के मजे लेने लगा.

वह इस तरह से चुसाई कर रही थी कि उसे बहुत बड़ा एक्सपीरियंस है मैंने पूछा कहां से सीखा तो बोली मेरा बॉयफ्रेंड का करती हूं इसलिए.

और 5 मिनट में मेरा पानी भी निकल गया पर मेरा बेठा नहीं और वह अब भी रोड की तरह खड़ा था.

वह बोली जानवर है क्या तू? बैठ ही नहीं रहा तेरा.

मैंने बोला तेरी मार के ही बैठेगा

फिर मैंने उसके पैर फैलाए लंड को उसकी चूत पर टिका दिया और कोशिश की डालने की लेकिन चूत बहुत टाइट होने की वजह से जा नहीं रहा था.

फिर मैंने उसकी टांगें थोड़ी और चोडी की तो थोड़ा अंदर गया उसने अपनी आंखें बंद कर ली और बेडशीट पकड़ ली. बाद में मैं 5 सेकंड रुका और फिर से झटका दिया तो आधा लंड अंदर गया. वह चिल्ला पड़ी बाहर निकालो दर्द हो रहा है.

मैंने उसे हग किया और लिप लॉक कर दिया और एक झटका मारा और पूरा अंदर घुस गया.

दर्द में उसने मेरी बेक में नाखून घुसा दिए लेकिन मैं होश में था और इग्नोर कर दिया. तो मैं ऐसे ही रुका रहा जब वह नॉर्मल हुई तो मैंने धक्के मारना शुरु कर दिया वह भी मजे में चुतड उठा उठा के साथ देने लगी.

मैंने कहा पहले तो बहुत मना कर रही थी अब क्या हुआ तेरी चूत में मेरा लंड अब तुझे अच्छा लग रहा है?

वह थोड़ा रुक कर बोली मेरा बॉयफ्रेंड तो नामर्द है भोंसड़ी का.

2 साल से कुछ नहीं किया सिर्फ चूसा के भाग जाता है तू अच्छे से चोद मुझे.

मैंने कहा तेरी चूत फाड़ दूंगा बहन की लोडी. तुझे तो रोज चोदूंगा. अब मैं तेरी दीदी के सामने चोदुंगा तुझे देख लो.

किरण ने कहां दीदी को भी चोद दे मुझे फर्क नहीं पड़ता बस मेरी प्यास बुझा दे.

मैंने सेम पोजीशन में उसे 10 मिनट तक चोदा. उसके बाद हम मिशनरी पोजीशन में आ गए तब मैंने नोटिस किया कि उसको ब्लीडिंग तो हुई नहीं और उसे पूछा कि तुम्हें ब्लीडिंग क्यों नहीं हुई.

तो वह बोली घर में मैं चूत में डालती टाइम सील टूट गई थी

उसके बाद 20 मिनट की चुदाई के बाद मैंने उसे बोला मैं झड़ने वाला हूं तेरी चूत में छोड दू या बहार? वह बोली चूत में ही छोड़ दो.

सेफ टाइम है आज.

मैंने चूत में छोड़ दिया और उसी के ऊपर लेट गया. 5 मिनट के आराम के बाद हम बाथरुम में गए और वहां भी चुदाई की शावर में.

पूरी चुदाई इवनिंग तक चली.

उसके बाद वो जाने लगी तो उसे चला भी नहीं जा रहा था. 2 महीने तक हमें जब मौका मिला तब हम चुदाई करते थे. उसने जॉब छोड़ दी और मेरी एक गर्लफ्रेंड बन गई. उसके साथ की स्टोरी में नेक्स्ट टाइम सुनाऊंगा.

bhabi ki chudai, bhabi ki chudai in Hindi and Urdu language, bhai se chudai, chudai, chudai ki kahani, Hindi, Hindi Sex Story, Indian Sex, अदला बदली, कपल सेक्स, कामोत्तेजित, कॉलेज सेक्स, चुदाई, डायरी, देसी, Dilli me sex, Dilli me chudai

Rate This Story