Saturday, 28 November 2015

बॉस की बीवी की चूत पेली

एक दिन मुझे अपनी बॉस की वाइफ का कॉल आया. मेरे बॉस आज बहार जा रहे थे और उनकी बीवी ने कहा की मैंने कामवाली को भी छुट्टी दे दी हैं तुम आ जाओ घर पर. उसने कहा की आज मेरे घर आ जाओ रातभर के लिए, मैं सेक्स के लिए पागल हुए जा रही हूँ. साथ में उसने यह भी कहा की तुम्हारे लिए एक गिफ्ट भी ले रखी हैं जल्दी आ जाओ.

मैंने कहा ठीक हैं मैं आता हूँ कुछ देर में. मैं तैयार हुआ और उसके घर की और निकल पड़ा. रस्ते में मैंने वोडका की बोतल ले ली. उसने मुझे कहा की डिनर मैं ऑर्डर कर दूंगी.

मैंने डोरबेल बजाई. मेडम ने ही दरवाजा खोला. क्या लग रही थी वो, रेड कलर की नाइटी पहनी थी वो भी एकदम नयीवाली. उसके बूब्स कपड़ो में से मुझे झाँक झाँक के देख रहे थे जैसे.

उसने मुझे वही दरवाजे में खड़े खड़े ही आँख मारी. मैंने घर में झाँका तो उसने कहा, घर कोई नहीं हैं. बंटी और राधा पड़ोस में गए हैं प्रोजेक्ट के लिए.

मैंने कहा, पूरा प्लान बना के रखा हैं तुमने!

उसने हंस के मेरा हाथ पकड़ा और मुझे घर में खींचते हुए कहा, हां आज तो मैं बहुत मजे लुंगी, बहुत दिन से तडपा रहे थे तुम.

मैंने मेडम को वही दबोच लिया, उसके बूब्स मेरी छाती के ऊपर गड रहे थे और उसके निपल्स में अकडन थी. मैंने मेडम की गांड पर हाथ दबाया और अपनी और खिंच लिया. मेडम की साँसे उखड़ी हुई थी और वो मुझे ऊपर हो हो के किस देने की फिराक में थी. मेडम की हाईट कम हैं इसलिए उसे ऊपर हो हो के ही सब कुछ करना पड़ता था!

मैंने मेडम की गांड के ऊपर की लिसी नाइटी को पकड़ा और फिर हाथ आगे कर के उसकी नाइटी को खोलने लगा. नाडा खोलते ही नाइटी जमीन पर गिर पड़ी. मेडम ने अन्दर कुछ भी नहीं पहना था और उसकी झांट मुझे दिखने लगी. मेडम ने अब अपने हाथ से मेरा लंड पकड़ा और उसे दबाने लगी.

मैंने मेडम को दूर किया और उसके मम्मे अपने हाथ में भर लिया. अब वो पूरी नंगी हो गई और उसने मुझे भी नहीं बक्षा. मेरे नंगे होते ही मैंने कहा, वोडका नहीं पीनी हैं.

मेडम ने कहा, पहले तो मैं तेरे लंड का रस पीउंगी डार्लिंग, फिर चुदवाने के बाद हम वोडका पियेंगे.

इतना कह के मेडम ने मेरे लंड की नाली को अपने मुहं में भर ली. वो लंड को पूरा मुह में ले के ऐसे चूस रही थी. मेडम तो लंड की भूखी थी काफी अरसे से. मेरे बॉस को किडनी की तकलीफ थी और उनका सेक्स जीवन तो जैसे मेरे ऊपर ही निर्भर था. बॉस को मेरे ऊपर बाहुत भरोसा था इसलिए उनके घर आनेजाने से उन्हें शक भी नहीं होता था. और कुछ दिनों में ही बॉस की बीवी ने मेरे ऊपर डोरे डाल के अपनी हवास का शिकार मुझे बना लिया था. और उसकी चुदवाने की स्टाइल इतनी मस्त थी की मैं भी उसके पीछे पागल था.

वो मेरे लंड को गले तक ले रही थी और उसके गले से ग्गग्ग्ग ग्गग्ग्ग ह्ह्ह्हह ग्गग्ग्ग की आवाजें अ रही थी. मैंने उसके बाल पकडे हुए थे और मैं अपने लंड को उसके मुह में जोर जोर से ठोक रहा था. मेडम तो लंड को खा जाने की फिराक में थी जैसे. वो मेरे लंड को चूसने के साथ साथ मेरे तत्ते भी दबा रही थी. कसम से बहुत दिनों के बाद मिली थी यह रंडी इसलिए मजे भी चार गुने करवा रही थी. मैं भी उसके मुहं में देते ही जा रहा था लंड को. वो भी आह आह ओह ओह करते हुए लंड से मजे ले रही थी.

५ मिनिट्स तक उसने बिना सांस को रोके लंड से खेला और फिर मेरे लंड ने अपना माल उसके मुहं में ही छोड़ दिया. मेडम ने पूरा मुहं खोला और मैंने वीर्य की एक एक बूंद को उसके मुहं में ही निकाल दिया. मेडम ने सब कुछ पी लिया.

अब मैंने मेडम को खड़ा किया और उसके मम्मो को मुहं में भर लिया. मेडम खुद भी मम्मे दबा के चुसवा रही थी. मैं बारी बारी दोनों निपल्स को चूस रहा था. मेरा लंड टाईट हो गया था फिर से उसके मम्मे चूसते हुए.

मेडम के बूब्स चूसते हुए ही मैंने उसे बिस्तर में फेंका. फिर मैं उसके ऊपर आ गया और उसकी चूत में ऊँगली डाल दी. चूत बहुत गर्म थी और चिकनी थी. ऊँगली सीधी ही चूत में घुस गई. मैं ऊँगली को जोर जोर से चूत में अन्दर बहार करने लगा था. मेडम ने अपना हाथ लम्बा कर के मेरा लंड पकड लिया और ऐसे खींचने लगी जैसे की उसमे से दूध निकलना हो. मेरा लंड एकदम टाईट हो गया था. मेडम ने कहा, चलो अब चोद भी दो मेरे राजा, मैं अबी बहुत चुदासी हो गई हूँ!

मैंने कहा, हां मेरी रंडी चोदुंगा तुझे ऐसे की चूत फाड़ के उसका पानी निकाल दूंगा!

मेडम ने अपने हाथ से मेरे लंड को चूत की फांको पर रगडा और मैंने एक ही झटके में लंड को अन्दर कर दिया. मेडम की चूत में आधा लंड घुस गया. उसके मुहं से अह्ह्ह्हह उईई निकल गया. मैंने फिर से एक धक्का दिया और अब की लंड पूरा चूत में घुस गया. मेडम ने मुझे अपनी बाहों में जकड़ लिया और मैं अपनी कमर को हिला के उसकी चूत को जोर जोर से ठोकने लगा. मेडम भी अपनी गांड को उठा उठा के चुदवा रही थी. मेरा लंड फच फच की आवाज से मेडम की प्यासी गीली चुत में अन्दर बहार हो रहा था. और वो किसी हॉट रंडी के जैसे अपने कुल्हे उठा उठा के चुदवाती जा रही थी.

उसके मस्तक पार पसीना था और मेरे भी. हम दोनों को भी गर्मी लग रही थी और बदन भी पुरे भठ्ठी के जैसे हो गए थे. मेडम और जोर जोर से अपनी कमर को हिला रही थी और मैं भी दुगुनी ताकत से उसे चोद रहा था!

अब मैंने अपना लंड चूत से निकाला और मेडम को घोड़ी बना दिया. अब मैं मेडम के पीछे आ गया और अपना लंड चूत में रख दिया. मेडम ने हाथ पीछे किया और मेरे लोडे को छेद पर रख दिया.मेडम की चूत में मेरा लंड घुस गया और मैं फिर से उसकी चूत को फच फच ठोकने लगा. मेडम भी अपनी गांड को आगे पीछे करते हुए लंड के अजे लुटने लगी. मैं अपने लंड को मेडम की चूत में अन्दर बहार होते हुए देख रहा था और उसकी गांड को दबा के उसे और भी तीव्रता से चोद रहा था.

२ मिनिट की डौगी स्टाइल चुदाई में ही मेरे लंड का पानी निकल पड़ा. सारा के सारा पानी मैंने मेडम की चूत में ही निकाल दिया. मेडम ने पीछे हाथ कर के अपनी चूत से बहार निकलती हुई वीर्य की बूंदों को अपनी गांड पर मसला.

मैं बिस्तर पर लेटा और वो बोली, बड़ा मजा आ गया मेरे राजा!

मैंने कहा, चलो वोडका पीते हैं.

वो बोली, हाँ और फिर नशे में भी चुदाई करेंगे!

मैंने हंस पड़ा और इस हॉट भाभी को देखता रहा!

baap beti ki chudai ki kahani, behan ki chudai, bhabi ki chudai, bhabi ki chudai in Hindi and Urdu language, bhai behan ki chudai ki kahani, chudai ki kahani, chut aur lund ki story, maa bete ki chut ki story, maa ko choda, nangi behan ki kahani, nangi kahani, nangi maa ki kahani

Rate This Story