Monday, 21 September 2015

काली काली चूत थी उसकी

हाय दोस्तों मेरा नाम मयंक हे और में एक प्रोफ़ेसर हूँ. मेरी कॉलेज में पढ़ती लगभग सभी लडकिया खुबसूरत हे में हर दिन लडकियों को देखता हूँ. लेकिन दोस्तों सभी लडकियों को में स्टूडेंट के रूप में ही देखता हूँ. लेकिन एक लड़की जो न दिखने में खुबसूरत थी और ना ही कुछ खास बस खास था तो सेक्सी उसकी आवाज और उसकी गांड जिसे देखते ही में फ़िदा हो गया किसी भी तरह में उसकी गांड को पाना चाहता था.

और दोस्तों मेने अपनी कोसिसे सुरु कर दी. में हर वक्त उसके साथ किसी न किसी बहाने से जाया करता था वो भी मेरे पास जाने से खुस हो जाती थी. अब हम दोनों इ याराना हो गया दोस्तों हमारी उम्र में काफी हद तक डिफ्रन्स था लेकिन हम दोनों अब एक दुसरे को चाहने लगे थे.

मेने उससे दोस्ती तो कर ली थी लेकिन में उसकी काली चूत को केसे चोदु उसकी गांड केसे मारू बस यही सोच रहा था. एक दिन में बाजार में खरीदी करने के बहाने से ले के गया जहा थोडा बहुत सामान ख़रीदा और फिर हम दोनों घर आ गए. दोस्तों में अपने घर परिवार के बारे में बताना चाहता हूँ.

मेरे घर में में और मेरी बीवी हम दो ही हे हमारी शादी को ९ साल हो गए हे लेकिन हमें कोई बच्चा नहीं हे और मेरी बीवी बच्चे नहीं चाहती. वो कभी कभी मेरे साथ सेक्स के लिए रेडी होती हे इस लिए दोस्तों मेरी सेक्स लाइफ कुछ खास नहीं हे.

उन दिनों मेरी बीवी की बहेन की शादी थी तो वो १५ दिनों तक मइके में रहने वाली थी अब मेरे घर में कोई नहीं था में अकेला था तो उस लड़की अरे हां दोस्तों उसका नाम हे रोशनी,  उसे में घर ले आया. वो नहीं जानती थी की घर में मेरी बीवी नहीं हे वो डर डर के अन्दर झांकते हुए कदम उठा रही थी तब मेने उसे बताया रोशनी घबराओ मत मेरी वाइफ घर पर नहीं हे वो १५ दिनों के बाद ही मइके से लोटेगी.

तब जाके वो बेफिक्र से अन्दर आई अन्दर आते ही वो मुझे गले लग गयी जिसकी मुझे जरा सी भी भनक नहीं थी मुझे तो था की सभी बातो को लेकर मुझे ही पहल करनी होगी लेकिन आज तो वो बड़े मुड में थी. वो मेरी बाहों में झूलती रही और मेने भी उसे १० मिनट तक अपनी बाहू में कास के पकड़ा था और झुलाया.

फिर हम दोनो ने सामान मेरे रूम में रख्खा और फिर सोफे पर आके बेठे कुछ देर तक प्यार भरी बाते की फिर फिर मेने उससे सीधे ही सेक्स को लेकर बात छेड़ी तो पहले तो वो हीच खिचाई लेकिन फिर वो मुद में आकर बात करने लगी मेने अपने और मेरी बीवी के सेक्स लाइफ के बारे में उसे सब कुछ बता दिया.

फिर उसने अपनी कथा सुनाई वो कहने लगी की सेक्स की तमन्ना तो उसे वो जब १२ में थी तब से हे वो तभी से अपनी चूत में उंगलिया करके हर रोज चूत को छोडती हे और चूत को शांत करती हे लेकिन अब दिन गुजरते ही मेरी चूत को उंगलियों से कोई मजा नहीं आता उसे तो लैंड ही चाहिए.

तो मेने कहा तो चूत अगर लंड मांग रही हे तो फिर इसे लंड दे दो ना चुद्वालो अपनी प्यारी सी सेक्सी चूत को मेरे लैंड से . में अभी तो अपने बात ख़तम भी नहीं कर पाया था में कुछ आगे बोलने जा रहा था लेकिन उसने मुझे बिच में ही रोक दिया और बोली अगर तुम्हारा लैंड मेरी चूत की ख्वाहिस रखता हो तो.

में केसे उसे केहता की ये तो कबसे भी तेरी चूत की आस लगे बेठा हे.लेकिन दोस्तों मेने बिना कुछ कहे ही अपने कपडे निकालने लगा तो वो बोली तुम निकालो और पुरे निकालो अपने कपडे तुम्हारे सरीर पर एक भी कपडा नहीं दिखना चाहिए और वो भी उठ कड़ी हुई और उसने भी अपने सारे कपडे निकाल दिए.दोस्तों वो दिखने में खुबसूरत नहीं थी लेकिन उसके सेक्सी बूब्स देख कर में तो कुत्ते की तरह उसके ऊपर जा टूटा.

मेने उसके बूब्स चबाने सुरु कर दिए और में उसके बूब्स को देर तक चबाता रहा. फिर में निचे की और झुका उसे ये कहते हुए की रोशनी तुम्हारे बूब्स इतने सेक्सी हे तो तुम्हारी चूत भी तो सेक्सी होगी .ये कहते कहते अभी तो में झुका ही था की उसने अपने दोनों पेरो को फेला दिए और चूत को रख दिया मेरे सामने में उसकी चूत को देखता रहा देर देर तक द्देखा उसकी साली फूली फूली चूत को साली को आज तो चोद चोद के में लाल टमाटर जेसी बना दूंगा.

दोस्तों उसकी चूत काली काली थी लेकिन बड़ी ही सेक्सी थी में उसकी काली चूत के ऊपर अपने हाथ रख कर हाथ से उसे मसाज करने लगा फिर थोड़ी देर के बाद मेने उसकी चूत में अपना लैंड का मुख लगाया लैंड का मुख लगते ही वो आआआआआआऔऊऊऊऊऊउईईईईइ आआआआआआआह्ह्ह ऊऊऊऊऊऊउफ़्फ़फ़्फ़फ़्फ़फ़्फ़फ़्फ़फ़्फ़फ़्फ़ करने लगी जो सुनते ही मुज पर कामुकता हावी हो गयी और में जेसे कुत्ता कुट्टी पर टूट पड़ा हो में भी उसके ऊपर टूट पड़ा.

फिर तो मेने जरा भी देर नहीं की और उसकी चूत के अन्दर एक ही झटके में अपना लम्बा लैंड घुसा बेठा इतने झोर से झटके से घुसाया था की मुझे भी कुछ दर्द हुआ तो में कुछ पल के लिए उसके ऊपर ही लंड को चूत में घुसाए सोता रहा.

फिर में उठा और उसकी चूत के अन्दर बहार करने लगा लंड अन्दर बहार कर करके में उसकी काली काली फूली चूत को चोद रहा था मजा तो दोस्तों बहुत ही आ रहा था मेरे मुह से भी अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह ऊऊऊउफ़्फ़फ़्फ़फ़्फ़फ़ जेसे सब्द निकल रहे थे वो चुदाई में मग्न थी मेरी पीठ पर नाख़ून मार रही थी. और अपनी गांड हिला हिला कर चुदवा रही थी वो अपनी काली सेक्सी चूत को.

मेने दोस्तों उसे २ घन्टे तक चोदा लगातार चोदा और झोर झोर से झटके लगाये तेजी से उसकी काली चूत को चोदता रहा और फिर अंत में दोस्तों में जब झड़ने वाला था तो उसे कहा की में झाड़ता हूँ तो वो बोली नहीं मेरी चूत में नहीं निकालना मेरे बूब्स को चोदो थोड़ी देर और उसकी बाद जो बभी निकले सारा माल बूब्स के दरमियाँ निकाल दो लेकिन मेने नहीं माना क्युकी मुझे तो उसकी चूत में ही झाड़ना था तो वो बोलती रही और में उसकी चूत में ही झड गया.

chut ki chudai, chut me lund, gand se choda, gora chut, Hindi Sex Story, lamba lund, maa bete ki chut ki story, maa ko choda, nangi behan, nangi behan ki kahani, nangi kahani, nangi maa, nangi maa ki kahani, black pussy, kali choot ko choda, kali phudi

Rate This Story