Monday, 15 June 2015

माँ को मेरे पति से चुद्वाते हुए देखा

आज मैं आप लोगो के साथ एक सेक्स स्टोरी शेयर कर रही हूँ. पहले मैं आप लोगो को अपना परिचय देन चाहती हूँ. मेरा नाम सुनैना है और मैं बनारस की रहने वाली हूँ. मेरी शादी को करीब ४ साल हो चुके है और मेरा ससुराल कानपूर में है. मेरे पति एक प्राइवेट कंपनी में मार्केटिंग जॉब में है जिसकी वजह से उनको हमेशा बाहर आना जाना लगा रहता है. शादी के टाइम  मेरा बी.एड चल रहा था जिसकी वजह से मैं अपने मायके में रहती थी, पति अक्सर वहा आ जाते थे. मेरे पापा की डेथ हो चुकी थी और मेरे यहाँ और कोई नहीं था इसलिए मेरी मम्मी मेरे पति को बेटा जैसा मानती थी.

मेरी मम्मी की उम्र उस टाइम ४० साल थी और वो देखने में बिलकुल भी नहीं लगती थी की उनकी उम्र इतनी होगी, उन्होंने अपना फिगर अच्छा बना रखा था.

यह बात होली के टाइम की है, मेरी पहली होली थी शादी के बाद इसलिए मैं बहुत खुश थी, मेरी ससुराल से मेरा एक देवर भी होली में आ गया था. होली की सुबह से ही हम सब लोग होली के रंग से रंगे हुए थे.

देवर रह रह कर मेरे साथ शरारत कर रहा था, पति सामने ही थे इसलिए हम कुछ नहीं कर पा रहे थे पर उसने मौका देख कर एक दो बार मेरी चूची दबा दी थी, पता नहीं क्यों जब कोई अनजान आदमी आप के बदन को छूता है तो शरीर में एक अजीब से सिरहन हो जाती है.

मेरा भी मन कर रहा था की यह अगर अकेले मिल जाये तो इसके लंड पर रंग डाल कर अच्छे से मालिश करते हुए इसकी गर्मी निकाल दूं. पर ऐसा हो नहीं सका और शाम को मेरे देवर वापिस चले गए. रात में हम सब डिनर कर रहे थे तो मेरे पति पी भी रहे थे, मेरी माँ ने उनसे बिअर की कुछ बात की तो उन्होंने उनको भी एक गिलास में बिअर दे दी.

मम्मी मना भी कर रही थी पर मेरे पति ने उनको ज़बरदस्ती बिअर पिला दी. बिअर का नशा मेरी मम्मी को होने लगा था. मेरे पति ने फिर ज़बरदसती मम्मी को व्हिस्की पिला दी और थोड़ी देर बाद मम्मी बिलकुल आपे से बाहर हो गयी. वो मेरे पति से चिपक कर प्यार करने लगी थी, वो भी मेरे सामने.

यह सब होते- होते मेरे पति का भी लंड खड़ा हो गया था, तब तक मैं बर्तन हटा रही थी. फिर मेरे पति ने मम्मी को भी अपने कमरे में सोने के लिए बोल दिया. एक ही बेड  पर हम तीनो लेटे हुए थे, मम्मी नाईटी में थी और बार- बार मेरे पति को चिपका कर उनका लंड पकड़ रही थी.

पहले तो हम को बुरा लगा यह सब पर बाद में अच्छा लगने लगा. मेरे पति ने मेरी मम्मी की नाईटी में हाथ डाला और उनकी चूची मसलनी शुरू कर दी थी, जैसे ही उन्होंने मम्मी की चूची नाईटी से बाहर की, मम्मी ने भी मेरे पति का शॉर्ट्स उतर दिया.

मेरे पति का लंड एक दम ताना हुआ था, मम्मी उसको प्यार से देखते हुए सहलाने लगी, तब मेरे पति ने मम्मी की नाईटी उपर कर के उनकी चूत पर हाथ फेरना शुरू किया.

मम्मी की आँखे बंद हो रही थी, मैं चुप चाप अपनी आँखे बंद किये हुए मम्मी की चुदाई का मजा ले रही थी. फिर मेरे पति ने अपना सारा कपडा उतर दिया और मम्मी की नाईटी भी निकल दी, मेरी आखो के सामने मेरा पति पूरा नंगा मेरी मम्मी की चुदाई करने जा रहा था. मेरी चूत के भी बुरा हाल होने लगा था.

फिर अचानक मम्मी उठ कर बैठ गयी और मेरे पति के लंड पर थोडा सा थूक लगा दिया और पति के लंड को हाथ में ले कर मसलने लगी, उस तमे मेरे पति को भी मज़ा आ रहा था जिससे उनकी भी आँख बंद हो गयी थी. फिर पति ने मम्मी को बिस्तर पर लिटा दिया और उनकी बाल वाली चूत को किस करने लगे.

मम्मी ने मेरे पति का पूरा सर पकड़ लिया था उअर जोर जोर से अपनी चूत पर रगड़वा रही थी, मेरे पति उनकी चूत को चूसते हुए अपने दोनों हाथ से मम्मी की चूची जोर जोर से दबा रहे थे. मम्मी के निप्पल पूरे खड़े हो चुके थे.

फिर मेरे पति ने मम्मी की क्लिट को मुह में लिया और अपने  दोनों लिप्स के बिच में दबा कर चुसने लगे. मम्मी के मुह से आवाज़ भी आने लगी थी, मेरा हाथ मेरी चूत पर था. गुस्सा भी आ रहा था पति पर पर थोडा तरस भी आ रहा था अपनी मम्मी पर क्यूंकि मम्मी ने लास्ट पापा से ही चुदवाया था वो भी करीब ४ साल पहले.

फिर मेरा पति अपने लंड से मम्मी के निप्पल रगड़ने लगा और अपने लंड का पानी उसकी चूची पर लगा रहा था, यह सब देखते हुए मेरा भी बुरा हाल हो रहा था. अचानक मम्मी ने मेरे पति को धक्का दे कर निचे कर दिया और अपनी चूत दोनों हाथ से खोल कर पति के लुंड को अपनी चूत से चिपका लिया.

यह दृश्य देख कर मेरे भी मुह से सिस्कारिया निकल रही थी और मैं अपनी चूत को रागरे जा रही थी. मम्मी अपनी गांड उपर निचे करते हुए मेरे पति के लुंड से चुदाई का पूरा मज़ा ले रही थी और वो भी अपनी बेटी के सामने ही.

hi.

करीब १०-१२ मिनट बाद मम्मी झड गयी और पति के ऊपर ही लंड चूत में लिए हुए लेट गयी. उस टाइम उनकी साँसों की आवाज़ मेरे कान तक आ रही थी. फिर मेरे पति ने अपनी सासु माँ को प्यार से बिस्टर पर उल्टा कर के लिटा दिया और उनकी गांड पर थूक लगाने लगे.

मम्मी समझ गयी की दामाद जी आब उनकी गांड में डालने वाले है तो वो उठ गयी और सीधे लेट गयी. मेरे पति समझ गए की उनकी सासु माँ गांड में डलवाना नहीं चाहती (मम्मी का पाईल्स का ऑपरेशन हुआ है अभी कुछ दिन पहले शायद इसलिए उन्होंने गांड में डालने नहीं दिया).फिर पति ने मेरी आँखों के समाने ही मेरी माँ की चुदाई कर दी

अगले दिन सुबह सब कुछ नार्मल था घर में. बस मैं अपने पति से बात नहीं कर रही थी. वो बार बार आकर हमको छेड़ रहे थे की मम्मी बहुत अच्छी है. हमने भी तय किया कि कभी मौका मिला तो मैं भी अपने पति के सामने ही उनके भैया (जेठ जी ) से चुद्वायुंगी तब उनको पता चलेगा.

मेरी सेक्स स्टोरी पढ़ कर अगर आप को अच्छी लगी हो तोह प्लीज अपने कमेंट्स जरुर भेजे.

hindi sexy kahaniyan, desi sexy kahani, desi stories, Indian desi sex kahani, antarvasna kahaniyan

Rate This Story