Thursday, 16 April 2015

बबली मौसी की चुदवाने की तमन्ना

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम साहिल है और में इस साईट का बहुत बड़ा फैन हूँ, जब से मैंने इस साईट की स्टोरी पढ़ी है तब से मैंने भी सोचा कि अपनी कुछ यादों को ताज़ा करूँ और आप लोगों को शेयर करूँ। पहले में आपको अपने बारे में बता दूँ, में मुंबई में रहता हूँ और मेरी उम्र 27 साल है। हाईट 5 फुट 5 इंच, रंग गोरा है। बॉडी एवरेज है और लंड नॉर्मल साईज़ जैसे कि एक मर्द का होता है। में ज़्यादा बढ़ा चढ़ाकर नहीं बोलता। ये स्टोरी मेरी और मेरी कजिन मौसी की है। उसका नाम बबली है और उसका रंग बहुत गोरा है। बॉडी फुल फिट मतलब कि बड़े ब्रेस्ट, कड़क पिंक टाईट निप्पल और कमर छोटी, गांड बाहर और गोल मटोल है। वो शादीशुदा है और मुंबई में ही रहती है। अब में आपको ज़्यादा बोर नहीं करूँगा और सीधा स्टोरी पर आता हूँ।

यह बात आज से 3 साल पहले की है जब में न्यू जॉब पर लगा था और बबली की शादी हुई थी और वो अपनी नई लाईफ में व्यस्त हो गई थी। एक बार हमारे रिश्तेदार की शादी थी और उस शादी मे बबली मौसी आई हुई थी और में भी गया हुआ था। में अपने दोस्तों और रिश्तेदारों में व्यस्त था और यहाँ वहाँ की बात चल रही थी। इसमें मेरी नज़र अचानक से बबली पर पड़ी में थोड़ा चौंक गया। उनका भरा हुआ जिस्म देखकर मेरे दिमाग़ में शैतान में जाग गया, लेकिन में पहले थोड़ा सोच में पड़ गया कि कैसे में उसे पटा सकता हूँ? अब क्या फायदा उसकी शादी भी हो गई और उसके पति ने तो मज़े ले लिए होंगे। खैर मैंने फिर सोचना छोड़ दिया, लेकिन कुछ देर बाद मेरी ज़िंदगी में अचानक घुमाव आ गया। दोस्तों सच मानो या ना मानो किसी ने सही ही कहा है सब्र का फल मीठा होता है। फिर बबली मेरे पास आई और मुझसे हाय हैल्लो किया और यहाँ वहाँ की बातें की। फिर हम सब रिश्तेदार लास्ट में ख़ाना खाने के लिए बैठे तो मैंने बबली से पूछा तुम्हारा पति नहीं आया, तुम अकेली हो। तब बबली ने कहा कि उनको कहाँ फ़ुर्सत है और मेरे सास ससुर आए थे, लेकिन मामा जी के वहाँ चले गये। फिर उसने खाना खाते वक़्त अचानक से पूछा कि मुझे तुझसे कुछ बात करनी है और बोली मुझे तेरा नम्बर दे, तुझसे काम है तो मैंने तुरंत नम्बर दे दिया और अगले दिन रात को 11 बजे बबली का मैसेज आया।

बबली : हाय साहिल कैसे हो?

में : ठीक हूँ? और आपकी शादीशुदा लाईफ कैसी चल रही है?

बबली : ठीक चल रही है। (फिर उसने थोड़ा अपसेट सा फोटो भेजा)

में : क्यों क्या हुआ कोई प्रोब्लम है?

बबली : नहीं यार, कुछ नहीं है और तू सुना तेरा काम कैसा चल रहा है? और तेरी गर्लफ्रेंड क्षमा कैसी है? (दोस्तों क्षमा मेरी कजिन सिस्टर है, लेकिन अब वो मेरी जान है और मेरे लंड की गुलामी में उसे 5 सालों से चोद रहा हूँ और आज तक चोद रहा हूँ और बबली को हमारा रिश्ता पता था)

में : काम तो ठीक चल रहा है और क्षमा भी खुश है, हम महीने में एक बार मिलते है।

बबली : अभी भी तुम लोगों का चल रहा है।

में : हाँ, आज वो शादी में आई नहीं है, वो अपने ससुराल में व्यस्त है किसी की तबीयत खराब है ना, लेकिन तुम इतनी दुखी क्यों हो? तुम्हारे खूबसूरत चेहरे पर दुख: अच्छा नहीं लगता है।

बबली : शशश, फ्लर्ट कर रहा है।

में : नहीं यार, में सच बोल रहा हूँ।

बबली : मेरा पति तो बहुत बोरिंग टाईप का है और हमेशा पैसे के पीछे भागता रहता है। उसको ज़रा भी मेरी चिंता या मेरी फीलिंग्स की कदर नहीं है काश।

में : क्या मतलब क़ाश? बोलो ना कुछ हुआ क्या? वो तुम पर ध्यान नहीं देता है या उसकी लाईफ में कोई और है?

बबली : उसकी लाईफ में सिर्फ़ पैसा और दोस्तों के साथ घूमने फिरने के आलावा कुछ नहीं है। छोड़ और तू कब करेगा शादी? अब तो क्षमा को छोड़ दे बेचारी परेशान हो जाती होगी?

में : शादी को तो टाईम है और क्षमा को छोड़ना नामुमकिन है।

बबली : अब उसकी शादी हो गई है तुम लोगों को समझ जाना चाहिए, वर्ना भविष्य में प्रोब्लम हो सकती है। शादी के पहले ठीक था, लेकिन अब उसकी शादी हो गई है, उसके पति को शक नहीं होता है क्या? तुम लोग अभी भी।

में : बबली मौसी एक बार जिसको चस्का लग जाता है, वो ज़िंदगी भर नहीं छोड़ सकता और तुमको तो पता है तुम खुद लड़की हो।

बबली : हाँ, वो तो है, खैर में तुझसे एक बात पूछना चाहती थी इफ़ यू डोंट माइंड और वादा करो तुम किसी को नहीं बताओगे। (दोस्तों में समझ गया था कि इसकी चूत खुजा रही है, लेकिन में जानबूझ कर अंजान बन रहा था)

में : में किसी को कुछ नहीं बताऊंगा में वादा करता हूँ, लेकिन बात क्या है?

बबली : तू जो क्षमा को देता है थोड़ा वक़्त मुझे भी दे, प्लीज ना मत बोलना। मैंने देखा है तूने क्षमा को एक लड़की से औरत बना दिया है और मेरी भी बहुत इच्छा है। मेरा पति बहुत कमजोर है और मुझे सेक्स की बहुत ज़रूरत है। में अपनी ये बात सिर्फ़ तुझसे ही कह सकती हूँ, क्योंकि तुझमें वो ताक़त है।

में : लेकिन, तुम मेरी मौसी हो और ये सब मुझे अच्छा नहीं लगता है, अगर किसी को पता चल गया तो बदनामी होगी और तुम्हारे रिश्ते में परेशानी आ जायेगी।

बबली : क्षमा तेरी पत्नी है क्या? वो भी तो तेरी सगी मौसी की लड़की है, में तुझे रोज़ नहीं बोलूंगी, लेकिन कभी-कभी जब ज़रूरत पड़ेगी तब बोलूंगी, भरोसा रख में एक औरत हूँ और तू नहीं जानता औरत की भूख क्या होती है? जैसे क्षमा आज तक प्यासी है, फिर भी उसकी प्यास नहीं बुझती है। क्यों तू मेरे लिए इतना नहीं कर सकता? मेरी अभी तक सील भी पूरी तरह से नहीं टूटी है बहुत मज़ा आयेगा।

में : ओके बबली, लेकिन हम कैसे और कब कहाँ पर करेंगे और मेरी एक शर्त है?

बबली : कैसी शर्त? मुझे हर शर्त मंज़ूर है?

में : क्षमा को ज़रा भी नहीं पता चलना चाहिए और जब कभी मुझे ज़रूरत पड़े तब तुम्हें आना पड़ेगा।

बबली : ओके मेरे जानू, बस मुझे भी वो खुशी दो जो एक औरत को चाहिए और सुन कल शाम को 7 बजे मेरे घर आ जाना, मेरा पति दो दिन के लिए बाहर जा रहा है और सास ससुर भी बाहर जायेंगे, इसलिए कल की रात तेरे नाम, आई लव यू।

में : ओके जानू, आई लव य। तो तुम अभी सो जाओं कल में 7 बजे आ जाऊंगा और ये रात तुम्हारे लिए हसीन बनाऊंगा।

फिर में अगले दिन रात में बबली को कॉल करके तैयार होकर उसके घर गया और जैसे ही मैंने डोर बेल बजाई तो में तो हैरत में आ गया। बबली ने काले कलर की गाउन पहने हुई थी और बाल खुले और बहुत मस्त पर्फ्यूम लगाया हुआ था, जिससे में मदहोश हो गया और तुरंत उसे पकड़कर किस करने लगा। बबली ने पहले से ही रूम की लाईट बंद कर दी थी और मोमबत्ती जला रखी थी। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर हम एक दूसरे को कसकर गले लगाकर पूरे बदन को किस करने लगे, क्योंकि बबली बहुत ही गर्म साँस ले रही थी, जिससे में और जोश में आ गया और फिर हम सीधा बेडरूम में गये और मैंने बबली को अपनी गोद में बैठाया और उसके गाउन को उतार दिया। जिससे वो शरमा रही थी, लेकिन दोस्तों गोरा बदन और गोल-मटोल बूब्स देखकर तो में उसको और कसकर चूमने लगा और उसे तुरंत पलंग पर लेटा दिया और पूरे बदन को चूमने लगा, जिससे वो आहहुउ ऊफफफफ्फ़ की आवाज़े निकाल रही थी। फिर मैंने अपनी शर्ट और जीन्स ऊतार दी, अब में सिर्फ़ चड्डी में था। फिर बबली मेरे ऊपर आ गई और मेरे पूरे बदन पर किस करने लगी और आई लव यू बोल बोलकर मुझे और भी गर्म करने लगी। फिर मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ और फिर मैंने सीधा अपनी चड्डी को उतारा और अपना लंड बबली के हाथों में रखा, तो वो थोड़ी चोंक गई और बोली इसके लिए में बहुत बेताब हूँ। 15 दिनों से मेरी चुदाई नहीं हुई है, मेरी अभी तक कुँवारी चूत है, आज इसको चोद दो।

फिर मैंने कहा हाँ जानू, लेकिन पहले इसे अपनी ज़ुबान का टेस्ट तो चखा दो तो पहले वो मना करने लगी, लेकिन मैंने उसे थोड़ा और गर्म किया। उसने लंड तुरंत अपने मुँह में ले लिया और हिला हिलाकर चूसने लगी और साथ में गर्म-गर्म आवाज़ भी उूउउह्ह्ह्ह माँ फूफ़फ्फ़, ये सुनकर में और भी गर्म हो गया और फिर मैंने तुरंत लंड उसके मुँह से निकाला और उसके मुँह पर अपना पानी छोड़ दिया। बबली की आँखे दंग रह गई और कहने लगी ये इतना सफेद और गर्म कैसे है? फिर मैंने कहा कि जान अब पता चल जायेगा। फिर मैंने उसे सीधा लेटाया और उसकी दोनों टांगो को फैला दिया और उसकी साफ चूत पर लंड को रगड़ने लगा और एक झटके में लंड अंदर डालने लगा, तो बबली तुरंत चीख पड़ी, आआहहहह उह्ह्ह्हह्ह। फिर में उसे तुरंत किस करने लगा और पूरा लंड उसकी चूत के अंदर डाल दिया जिससे वो जोर-जोर से चिल्ला रही थी, लेकिन में और स्पीड बढ़ाने लगा।

फिर उसकी चूत से थोड़ा खून निकलने लगा और में रुक गया, तो वो एकदम से बोली कि आहहाहहह ऊुउउफफफफ्फ़ कम ऑन साहिल, फक मी, डोंट स्टॉप और ये सुनकर में उसे कुत्ते की तरह चोदने लगा। फिर 5 मिनट बाद मैंने उसके कान में कहा अंदर छोड़ दूँ, तो उसने तुरंत हाँ कहा और मैंने अपना पानी उसकी चूत में ही छोड़ दिया। फिर, आआआ उऊउनम्म्मम बहुत मज़ा आ रहा है। फिर मैंने कहा कि जान अभी तो और बाकी है, थोड़ा आराम कर ले। फिर मैंने 15 मिनट के बाद फिर से उसकी चुदाई शुरू की और उस रात हमने और एक बार और सेक्स किया और फिर सो गये। ये सिलसिला अब तक चल रहा है, में महीने एक बार क्षमा की चुदाई और बबली की चुदाई कर रहा हूँ और वो दोनों मुझसे बहुत खुश है ।।

babalee mausee kee chudavaane kee tamanna, mausi ko chodne ka tarika, ammi ki behn ko chodne ka tarika, aunty ko kese chodu, kya karn chodne keliye, larki se phudi lene ki trick, Hindi sex stories in hindi fonts

Rate This Story