Wednesday, 25 March 2015

साहिल ने मुझे रखैल बनाया

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम हंसिका है और मेरी उम्र 23 साल है। में कोलकाता कि रहने वाली हूँ और मेरा फिगर साईज 36-30-36 है। मेरी लड़कियों से ज़्यादा दोस्ती कभी नहीं रही थी। ये कहानी तब की है जब मैंने पी.जी में एड्मिशन लिया था। हमारे सीनियर बैच में बहुत ही मस्त लड़के थे। जब मैंने कॉलेज जॉइन किया था तो हॉस्टल में मेरे बैच के काफ़ी कम बच्चे आए थे और सब कैम्पस में ही रहते थे, तो हुआ यू कि कॉलेज पहुँचने के बाद मेरी दोस्ती एक सीनियर लड़की से हुई, उन्होंने मुझे शुरू के कुछ दिनों में काफ़ी मदद की थी। फिर एक दिन उन्होंने मुझे अपने एक दोस्त से मिलवाया, जिसका नाम साहिल है। मैंने जब साहिल को फर्स्ट टाईम देखा तो बस देखती रह गयी। फिर उसने आ कर मुझसे हाय बोला और अब मेरी तो उसे देखकर सांसे तेज़ हो गयी थी। फिर मैंने कैसे भी करके हाय किया और स्माइल की। फिर उन्होंने बहुत मस्त सी एक स्माइल दी और मेरी बगल में आ कर बैठ गये। फिर हमारी बातें होने लगी, अब कई दिनों तक हम वाट्सअप और फ़ेसबुक पर घंटो बातें करते थे।

फिर एक दिन उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या तुम्हारे बॉयफ्रेंड है? तो मैंने कहा कि नहीं, तब उन्होंने मुझे  बताया कि वो भी सिंगल है। अब में बहुत खुश हुई और उन पर मेरी नज़र तो उसी दिन से थी जिस दिन मैंने उनको पहली बार देखा था। वो 6 फुट लंबे, दबंग वाली स्टाइल, गोरे, बहुत ही सेक्सी और हॉट दिखते है। फिर एक दिन हमारे कॉलेज में छुट्टी थी तो उन्होंने मुझे बाइक राईड के लिए पूछा। फिर मैंने भी हाँ बोल दिया। उस दिन मैंने बहुत सेक्सी हॉल्टर नेक टॉप और ब्लेक जीन्स पहनी थी। अब में बहुत सुंदर लग रही थी क्योंकि मेरे बूब्स उस टॉप में उभर कर आ रहे थे। फिर जब उन्होंने मुझे वैसे देखा तो अब उनकी नज़र मेरे बूब्स पर थी, अब मुझे बड़ा मज़ा आया, फिर हम बाइक पर चले गये।

उस शाम पूरे रास्ते में उनको पीछे से हग करके अपने बूब्स दबा रही थी, लेकिन में ऐसे बर्ताव कर रही थी कि जैसे मुझे स्पीड के कारण बहुत डर लग रहा है। फिर उन्होंने भी मौके का फायदा उठाते हुए बोला कि ज़ोर से पकड़कर बैठो। उस रात हमने फर्स्ट टाईम वीडियो चैट की थी, तब उन्होंने मुझे अपना लंड दिखाया, ओह गॉड क्या लंड था? दोस्तों इतना मोटा लंड मैंने पहले कभी नहीं देखा था। फिर उन्होंने मुझे अपने बूब्स दिखाने के लिए बहुत बोला, लेकिन मैंने मेरी रूम पार्टनर के कारण नहीं दिखाया। फिर एक दिन हमने मिलने का प्लान बनाया और उस दिन हमारे कॉलेज में छुट्टी थी तो उन्होंने पूरे दिन मुझे अपने साथ कहीं चलने को बोला, तो में भी मान गयी और मुझे पता था कि आज कुछ तो होगा।

उस दिन मैंने जानबूझ कर बहुत सेक्सी टॉप पहना और साथ में हॉट पेंट पहनी थी। अब वो मुझे  देखकर स्माइल करने लगे और बोले कि लगता है कि आज तुम पूरी तैयार हो और ये बोलकर मेरी कमर पर अपना हाथ फैरने लगे। अब में समझ गयी थी कि आज तो में गयी, क्योंकि जब तक में वर्जिन थी और अब मुझे थोड़ा डर भी लगने लगा था, लेकिन अब मुझे अच्छा भी लग रहा था, क्योंकि वो साहिल था। फिर वो मुझे बाइक पर शहर से कुछ दूर एक सुनसान एरिया की तरफ लेकर गये, उधर उनका एक घर है जिसका आधा पार्ट गेस्ट हाउस बना हुआ है, वहाँ पर सिर्फ़ उनके कुछ स्टाफ रहते थे। उनका घर पूरा खाली था। फिर हम बाइक से उतरकर उस घर में अंदर गये और फिर मुझे बेडरूम में ले जा कर साहिल ने मैन दरवाजा बंद कर दिया, फिर उन्होंने बेडरूम का भी दरवाज़ा बंद कर दिया और बेड पर मेरे पास आकर मेरी बगल में बैठ गये।

अब वो मुझे बहुत ध्यान से देख रहे थे। फिर मैंने उनको देखा, तो वो बोले कि में तुम्हे सिर्फ़ अपनी गर्लफ्रेंड नहीं बनाना चाहता। अब में कुछ नहीं समझी थी, तो मैंने पूछा कि मतलब, तो उन्होंने कहा कि  धीरे-धीरे समझने लगोगी। फिर उन्होंने मेरे पास आकर मुझे ज़ोर से स्मूच किया और मेरे लिप्स को काटने लगे और अपने दोनों हाथों से मेरे बूब्स को मसलने लगे जैसे उसमें से रस निकल रहा हो, अब मुझे बहुत दर्द हो रहा था। फिर मैंने अपने हाथ से उन्हें रोकने की कोशिश की तो उन्होंने मेरे होंठो को ज़ोर से काट लिया और अपने हाथ से मेरी चूचीयों को और ज़ोर से दबाने लगे। अब मुझे अच्छा लगने लगा था, अब मुझे दर्द भी हो रहा था, लेकिन अब मज़ा भी आ रहा था। फिर वो उठे और मुझे खड़ा करके मेरे सारे कपड़े उतारने लगे। फिर उन्होंने मुझे पूरा नंगा करके लेटा दिया और खुद भी पूरे नंगे हो कर मेरे मुँह के पास आ कर मेरे मुँह में अपना लंड डालकर मुझे मुँह में चोदने लगे। उनका लंड बहुत बड़ा था। अब मेरी सांस अटक रही थी, लेकिन वो रुके नहीं। फिर वो 5 मिनट तक वैसे ही करते रहे।

फिर जब में बहुत ज़्यादा रोने लगी तो वो अपना लंड बाहर निकालकर मेरी चूचीयों पर अपना लंड रगड़ने लगे और मुझे किस करने लगे। फिर मैंने उन्हें बोला कि तुम्हारा बहुत बड़ा है, तो उन्होंने बोला कि तभी तो तुमको मज़ा आएगा। उनका लंड करीब 7 इंच लंबा और 2 इंच मोटा था। अब में तो बहुत ज्यादा डरने लगी थी। फिर उन्होंने मुझे सीधा लेटाया और मेरे ऊपर आ कर मिशनरी पोजिशन में मेरी चूत पर अपना लंड लगाया। अब में इतनी ज़्यादा गर्म थी कि मेरे पानी से बेड नीचे भीग गया था और मेरी चूत के पानी की स्मेल पूरे रूम में फैल गयी थी। फिर उन्होंने अपने लंड को दो बार आगे से पीछे तक रगड़कर एक धक्के में मेरी चूत फाड़ते हुए अपने लंड को पूरा अंदर तक पेल दिया। में उन्हें ज़ोर से पकड़कर चिल्लाई, तो उन्होंने मेरे मुँह पर अपना हाथ रख दिया और ज़ोर-ज़ोर से धक्के देने लगे। अब मुझे बहुत दर्द हो रहा था और अब में उन्हें रुकने को बोलती तो वो और ज़ोर से चोदते गये।

अब लगभग 20 मिनट तक चोदने के बाद वो मेरे अंदर ही झड़कर मेरे ऊपर लेट गये। अब में भी उस बीच 3 बार झड़ गयी थी। फिर में उन्हें हग करके सो गयी। उस दिन सुबह से शाम तक उन्होंने मेरी चूत की 5 बार चुदाई की। फिर शाम को जब हम वापस जाने लगे तो तब में ठीक से चल भी नहीं पा रही थी और पूरा बेड मेरे खून और उनके वीर्य से सना हुआ था। फिर मैंने उन्हें हग किया और बोली कि थैंक यू फॉर दिस लवली एक्सपीरियन्स, तो उन्होंने कहा कि अब तो यह रोज की बात है बेबी। अब में मन ही मन खुश हो रही थी

larki ko rakhail banaya, desi larki ko choda, desi sexy kahaniyan, full sex stories, Indian sexy stories, hindi font sex kahaniyan

Rate This Story